क्या है सुकन्या समृद्धि योजना कैसे खोले अकाउंट

इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट के क्या-क्या फीचर्स हैं और इस अकाउंट के फायदे, और ऐसे दो कारणों को भी हम जानेंगे कि हमें सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को क्यों खोलना चाहिए.

इसमें हम सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट कैलकुलेटर को भी जानेंगे मान लो, आप हर साल 50 हजार रुपये सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में जमा करते हो, तो उसके बाद मैच्योरिटी पर आपको कितना पैसा मिलेगा, ऐसे बहुत सारे एग्जांपल से हम जानेंगे कि सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर में आप कितना पैसा इनवेस्ट करोगे और आपको कितना रिटर्न मिलेगा.

और साथ में मिनिमम एज कितनी होनी चाहिए बेटी की, अगर आप Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट ओपन करना चाहते हो और इन सबके अलावा ढेरों पॉइंट्स जो भी सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट से जुड़े हुए हैं, ये सारे के सारे पॉइंट्स हम इस आर्टिकल में साझा करेंगे। उसके बाद, यह आपको डिसाइड करना है कि क्या आपको सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ओपन करना चाहिए या फिर इसके बदले आप किसी दूसरे इन्वेस्टमेंट स्कीम में अपना पैसा इन्वेस्ट कर लो ताकि आपको इससे भी ज्यादा अच्छे रिटर्न मिल सके।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? और किसके लिए खोलते हैं?

Sukanya Samriddhi Yojana एक सरकारी इनिशिएटिव थी जिसका उद्दीपन बेटी के भविष्य के साथ था, यानी 2015 में सरकार ने जब सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को लॉन्च किया था, तो सरकार का मकसद यह था कि गर्ल चाइल्ड को एक अच्छे भविष्य के लिए सहारा मिले। Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट की बात करें तो, उसमें जो भी पैरेंट्स हैं जिनकी गर्ल चाइल्ड है, और उस गर्ल चाइल्ड की आयु एक दिन से लेकर 10 साल के बीच है, वे सभी पैरेंट्स अपनी गर्ल चाइल्ड के लिए सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खोल सकते हैं।

सरकार कहती है कि ज्यादा से ज्यादा एक पैरेंट्स अपनी दो गर्ल चाइल्ड के लिए ही सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खोल सकते हैं, लेकिन अगर किसी मां की पहली गर्ल चाइल्ड है और दूसरी गर्ल चाइल्ड में कोई ट्विन होती है, तो तीनों के लिए उसी नाम से अकाउंट खोल सकते हैं। लेकिन यदि पहली गर्ल चाइल्ड हो जाती है, फिर दूसरी बेटी होती है, और फिर तीसरी गर्लफ्रेंड होती है, तो उस केस में आप सिर्फ पहली दो बेटियों के लिए ही सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खोल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना फायदे

आज की तारीख में, सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट के लिए सरकार 7.6 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान कर रही है। यदि हम इसे अन्य ब्याज दरों के साथ तुलना करें, तो आज की तारीख में सेविंग्स अकाउंट पर आपको औसतन 2.5 या 3 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा। यदि मैं किसी भी बैंक में एक फिक्स्ड डिपॉजिट खोलता हूं, तो उसमें मुझे सामान्यत: 5 से ज्यादा प्रतिशत का ब्याज प्राप्त होगा।

योजन एवं बैंक इंट्रेस्ट
सुकन्या समृद्धि योजना7.60%
सेविंग अकाउंट2.50% से 3%
फिक्स्ड डिपाजिट5% से 5.50%

हालांकि, इन सभी विकल्पों को छोड़कर, Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट में मुझे 7.7 प्रतिशत का ब्याज मिल रहा है, जो कि एक बड़ी पॉजिटिव आवंटन है। इससे स्पष्ट है कि इस योजना का ब्याज अन्य स्कीमों से अधिक है। अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खोलना चाहते हैं, तो इसका एक बड़ा पॉजिटिव आंकड़ा है।

आयु और डाक्यूमेंट्स

गर्ल चाइल्ड की आयु 10 साल तक ही होनी चाहिए; यदि कोई गर्ल चाइल्ड है जिसकी आयु 10 साल से ज्यादा है, तो उसके पेरेंट्स सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ओपन नहीं करा सकते हैं।

डॉक्यूमेंट्स में आपको वेबसाइट से बर्थ सर्टिफिकेट, अपना आधार कार्ड, गार्डियन का आधार कार्ड, और साथ में गर्ल चाइल्ड का भी आधार कार्ड लेना होगा। इन सभी डॉक्यूमेंट्स को बैंक में सबमिट करना होगा।

पहली बात यह है कि ऑनलाइन सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को आप नहीं खोल सकते हैं; लेकिन आप किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाकर आसानी सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खुलवा सकते हैं। चाहे आप गवर्नमेंट बैंक में जाएं चाहे ना प्राइवेट बैंक में, या फिर आप पोस्ट ऑफिस चुनें, आप जहां भी जाकर आसानी अकाउंट ओपन करवा सकते हैं।

कैसे काम कमरता है सुकन्या समृद्धि योजना

यह अकाउंट कैसे काम करता है, इसे समझते हैं। सरकार स्पष्ट रूप से बताती है कि यह अकाउंट 15 सालों के लिए काम करेगा। इन 15 सालों के दौरान, आपको इस अकाउंट में पैसा जमा करना होगा। इसके बाद, अगले छह सालों तक, आपको कोई भी पैसा जमा नहीं करना पड़ेगा, लेकिन यह अकाउंट मैच्योर होगा 21 साल के बाद। यानी आप इस अकाउंट में कम से कम एक साल में कम से कम ढाई सौ रुपए जमा करना जरुरी है, और ज्यादा से ज्यादा एक साल में आप तीन लाख रुपए तक सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में जमा कर सकते हैं।

आपको 15 सालों तक नियमित अंशदान करना होगा। इसके बाद छह साल का एक्स्ट्रा लॉक-इन रहेगा, जिसमें आपको कोई भी पैसा जमा नहीं करना होगा, लेकिन इसमें आपका इंवेस्टमेंट और इंटरेस्ट सुरक्षित रहेगा। 21 साल के बाद, जब अकाउंट मैच्योर हो जाएगा, तो जितना पैसा और इंटरेस्ट आपने 15 सालों में इसमें निवेश किया है, वह सरकार आपको वापस करेगी।

टेक्स के फायदे

सुकन्या समृद्धि योजना के टैक्स फायदे की बात करें, तो सेक्शन 80 इनकम टैक्स एक्ट के तहत आपको डेढ़ लाख रूपए के टैक्स रिबेट मिल जाती है, अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना में अपना अकाउंट ओपन करते हो। यहां पर एक सबसे बड़ा सवाल यह आता है कि मान लो एक पिता है उसने अपनी बेटी के लिए अकाउंट ओपन किया जब बेटी की उम्र थी 10 साल अब ऐसे में क्योंकि इस अकाउंट की मैच्योरिटी 21 साल के बाद होती है, यानि जब लड़की की उम्र 31 साल हो जाएगी तब जाकर की Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट मैच्योर होगा , तब जा करके उस लड़की को अपना पूरा प्रिंसिपल प्लस इंटरेस्ट मिलेगा।

लेकिन यहां पर एक सवाल यह आता है कि अगर मान लो फैमिली में कुछ पैसों की जरूरत पड़ जाती है, तो क्या हम इस सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को प्रिमैच्योर विथड्रॉ कर सकते हैं। यहां पर गवर्नमेंट का कहना हैं कि जब लड़की की उम्र 18 साल हो जाएगी और 18 साल में भी अगर बेटी की हायर एजुकेशन के लिए पैसा चाहिए या फिर अपनी की शादी के लिए पैसा चाहिए उसी केस में आप सिर्फ प्रीमेच्योर विड्रोल कर सकते हो। वह भी जितना अभी तक आपने माउंट डिपोजिट किया उसका पचास परसेंट ही आप प्रीमेच्योर विड्रोल कर सकते.

मान लें कोई लड़की है जिसने जब अपनी आयु 15 साल की थी, तब पैरेंट्स ने उसके लिए सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ओपन करवाया। अब, उसके चार-पाँच सालों तक, पैंशन में पैसा जमा होता है, और इसके बाद, अनफॉर्चुनेटली, पैरेंट्स की मौत हो जाती है। इस स्थिति में, सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का विकल्प दिया जाता है कि क्या गर्ल चाइल्ड इसे कंटिन्यू करना चाहेगी, यानी जब तक अकाउंट मैच्योर नहीं हो जाता है, तब तक कोई नए पैसे जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी, जो अब तक पैरेंट्स से मिल रहे थे। इसके ऊपर सिर्फ इंटरेस्ट मिलता रहेगा और जब यह अकाउंट मैच्योर हो जाएगा, तब इंटरेस्ट प्लस प्रिंसिपल पूरा गर्ल चाइल्ड को मिलेगा।

एक और स्थिति हो सकती है कि जब अनफॉर्चुनेटली पैरेंट्स की मौत हो चुकी है, तो गर्ल चाइल्ड वक्त पर इस अकाउंट को क्लोज करवा सकती है, नहीं अभी तक जितना भी प्रिंसिपल और इंटरेस्ट बनाया गया है, वह सारा पैसा गर्ल चाइल्ड को मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना क्यों नहीं खोलना चाहिए

अब इन सब के अलावा हम दो ऐसे कारणों को भी जान लेते हैं जो हमें यह बताते हैं कि सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट क्यों नहीं खोलना चाहिए।

अगर मैं एक बार आपको इंटरेस्ट बता दूं, तो यह सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ओपन हुआ था तब सरकार ने 9.1 परसेंट का रेट ऑफ इंटरेस्ट प्रदान किया था, यानी अगर मैं 1 अप्रैल 2014 की बात करूं, तो सरकार ने मुझे 9.1 परसेंट का रेट ऑफ इंटरेस्ट ऑफर किया था। और 2015 में सरकार ने इसे 9.2 परसेंट कम किया। इसके बाद, आगे देखा जाए तो सरकार ने इसका रेट ऑफ इंटरेस्ट कम करना जारी रखा, 2022 में, इसका रेट ऑफ इंटरेस्ट 7.6 परसेंट है।

यहां पर ध्यान से देखें कि अगर मैं सभी कंपेयरेसन करूं, तो 7.6 परसेंट बहुत ही शानदार रेट ऑफ इंटरेस्ट है। लेकिन इसमें एक बात को ध्यान से समझना जरूरी है। 21 सालों के इनवेस्ट के माध्यम से, जब तक कि मैं डेढ़ लाख रुपए Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट में जमा करता रहूंगा, सरकार मुझे 7.6 परसेंट ही रेट ऑफ इंटरेस्ट प्रदान करेगी।

अब यहां एक और पहलू है कि इसमें 21 साल से पहले विद्रोह करना संभाव नहीं है, और इस पर मैं तब 3 या 4 परसेंट ही रेट ऑफ इंटरेस्ट पा सकता हूं, जो कि सरकार के द्वारा तय किया जाएगा।

इस तरह, यदि मैं 78 लाख रुपए इसमें निवेश करता हूं, तो 2032 में सरकार मुझे केवल 3.2 परसेंट का रेट ऑफ इंटरेस्ट प्रदान करेगी, लीजिए कि मैं 10 ₹1200000 अगर इसे अकाउंट में डिपोजिट कर चुकाया तो ऐसे में जब तक यह अकाउंट मैच्योर नहीं होगा मेरी इतनी बड़ी अमाउंट तीन या चार परसेंट के रेट ऑफ इंटरेस्ट पर ही इस अकाउंट में फंसी रहेगी।

और दूसरा कारण की इस अकाउंट के तहत, जब गर्ल चाइल्ड की उम्र एक दिन से लेकर 10 साल के बीच में होती है, तो गार्डियन का रोल होता है और वह अकाउंट को ऑपरेट कर सकता है। हालांकि, जब बालिका 18 साल की हो जाती हैं, तो माता पिता का कोई रोल नहीं बचता है और पूरा अकाउंट उनके द्वारा ऑपरेट किया जा सकता है। इस तरह की स्थिति में, गार्डियन का कोई रोल नहीं होता है और पूरा एक्सेस गर्ल चाइल्ड के द्वारा मिलता है।

इसे एक उदाहरण के साथ समझाया जा सकता है: मान लीजिए कोई पैरेंट्स हर साल लगातार डेढ़ लाख रुपए को सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करते हैं और जब उनकी सुकन्या 21 साल की हो जाती है, तो उनके पास मिलती है एक महत्वपूर्ण रकम, सभी निवेशों की योजना के तहत।

इस तरह के स्थिति में, जब गर्ल्स 18 साल की हो जाती हैं, तो उन्हें पूरा एक्सेस मिलता है और गार्डियन का कोई रोल नहीं रहता है। इससे यह भी साबित होता है कि गार्डियन का रोल इसमें बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसके बिना एक टीनएजर को इस बड़ी राशि का पूरा एक्सेस नहीं मिलना चाहिए। इस प्रकार, इस योजना में गार्डियन का रोल बहुत महत्वपूर्ण है और इससे विवाद उत्पन्न हो सकता है क्योंकि बड़ी राशि को एक टीनएजर को हाथ में देना सही नहीं है और इसमें गार्डियन का रोल होना आवश्यक है।

सुकन्या समृद्धि योजना क्यों खोलना चाहिए

इस अकाउंट को ओपन करने के बहुत सारे कारणों में यह मेन कारण है कि 7.6 परसेंट का रेट ऑफ इंटरेस्ट कोई भी दूसरी स्कीमों पर नहीं मिलता, दूसरा कारण यह है अकाउंट ओपन करने का कि सरकारी अकाउंट है यानि आपका पैसा हंड्रेड परसेंट सुरक्षित है। एक लौंग इनवेस्टमेंट और सबसे अच्छी बात यह है कि आप बीच में अपना पैसा निकाल नहीं सकते, यानी अगर हम आज की डेट में फिक्स डिपॉजिट ओपन करवा लेते हैं।

और अगर हमें आज एक पैसे की जरूरत होती है तो हम बहुत जल्दी पिछली पोस्ट को ब्रेक भी कर वाले थे, लेकिन सुकन्या समृद्धि योजना जैसे अकाउंट में एक बार जब पैसा निवेश कर दिया तो कैसे भी करके हम इस पैसे को विथड्रॉ नहीं कर सकते हैं। यानि जो हमारी सेविंग्स होती है वह एक फिक्स से भी होती है उस पैसे को दोबारा विथड्रॉ नहीं कर सकते, और हमें यह पैसा जब मिलता है जब हमारी चाइल्ड गर्ल को सबसे ज्यादा जरूरत होती है यानि शादी के टाइम पर या फिर उसकी हायर एजूकेशन के टाइम पर।

समृद्धि योजना अकाउंट केलकुलेटर

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator Explain

मन लीजिये हर साल में डेढ़ लाख में Sukanya Samriddhi Yojana अकाउंट में डिपोजिट करता हूं, यानि इस हिसाब से हर महीने 12542 रूपए सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में डिपोजिट करता हूं, और मान लीजिए बेटी एक साल की है और 2022 में अकाउंट को ओपन करवाया। अब कि मेरा जो टारगेट है वह यह है कि हर साल में डेढ़ लाख में इनवेस्ट करूंगा, और क्योंकि हमें 15 सालों तक इस अकाउंट में इनवेस्ट करना है तो अगले 15 सालों तक मान लीजिए मैं डेढ़ लाख रुपए लगातार इन्वेस्ट करता हूं। तो इस हिसाब से अगले 15 सालों में टोटल अमाउंट में इनवेस्ट करूंगा 22 लाख 50 हजार रुपए टोटल इंटरेस्ट मुझे मिलेगा 41 लाख 15 हजार 195 रुपये। इन सब के अलावा मैच्योरिटी मिलूंगी 21 साल के बाद यह 2022 मगर मैंने अकाउंट ओपन किया है तो तरियालिश में जा करके अकाउंट में चोर होगा और मैच्योरिटी पर जो मुझे अमाउंट मिलेगी वह मुझे मिलेगी 63 लाख 65 हजार रुपये.

एक और उदाहरण लेते हैं। मान लीजिए कोई व्यक्ति हर महीने ₹2000 निवेश करना चाहता है, तो इस हिसाब से साल की इन्वेस्टमेंट होगी 24 हजार रुपये। अगर वह इसे 15 सालों तक जारी रखता है, तो उसकी कुल इन्वेस्टमेंट 15 सालों में 3 लाख 60 हजार रुपये होगी। 21 साल के बाद अकाउंट मैच्योर होगा और यदि इसे 2022 में खोला गया है तो 2019 में जा करके इसमें चोरी होगी, लेकिन टोटल इंटरेस्ट मिलेगा 6 लाख 58 हजार पर मैच्योरिटी पर टोटल राशि मिलेगी 10 लाख 18 हजार।

इसी तरह, एक और व्यक्ति है जो 5,000 महीने का निवेश करना चाहता है। इसने साल के शुरुआत में इसे ₹7000 महीने का करना निर्धारित किया है। इसने 600 रुपए से बढ़ाकर इसे साल भर में इंवेस्ट किया और 2022 में अगर इसने अकाउंट खोला है तो 2013 में इसमें चोरी होगी। इसके बाद, इन सभी राशियों के अलावा इसने कुल 15 सालों में 9 लाख रुपए का निवेश किया होगा। इसमें बची राशि को गिनती जाएगी और इंटरेस्ट मिलेगा 16 लाख 40 हजार रुपए, जिससे मैच्योरिटी पर मिलने वाली कुल राशि 25 लाख 40 हजार रुपए होगी।

उम्मीद है कि सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट के सारे पहलुओं को समझने में आपको सहारा मिलेगा। यदि आपके पास फिर भी कोई सवाल है, तो कृपया नीचे कमेंट सेक्शन में पूछें।

Leave a Comment