MP Board Class 11th English The Spectrum Chapter 1 Solutions True Worship

Here we have share MP Board Class 11th English The Spectrum Solutions Chapter 1 True Worship from latest mp board book solutions.

True Worship Textual Questions and Answers

Word Power

A. Find out the correct meanings of the underlined words from the alternatives given :

1. First fill your heart with the fragrance of love.

b. pleasing smell

2. Go not to the temple to light candles before the altar of God.
a. a holy table

3. First learn to bow in humility.
a. the quality of being humble

4. Go not to the temple to ask for forgiveness for your sins.
b. impiety A Pick the odd one out:
Answer:

  1. wholesome
  2. God
  3. request
  4. issues.

Comprehension

A. Answer the following questions in one or two sentences each.

Question 1.
What does the poet want us to do before putting flowers upon the feet of God? (2014)
Answer:
He wants us to fill our house with the fragrance of love.

Question 2.
What should we remove from our hearts first? (2009, 12, 13)
Answer:
We should remove the darkness of sin from our hearts.

Question 3.
What should we learn before bowing our heads in prayer ?
Answer:
We should learn to bow in humility before bowing our heads in prayer.

Question 4.
What should we do before asking God for forgiveness for our own sins ? (2009, 16)
Answer:
We should forgive people who have sinned against us before asking God to forgive our sins.

B. Answer the following questions in two to four sentences each.

Question 1.
What does the poet mean by ‘darkness’ in our hearts? How can removing this darkness help us in the eyes of God ?
Answer:
By ‘darkness’ in our hearts the poet refers to the sins committed by us. Getting rid of our sins will make the ritual of placing lighted candles before the altar acceptable to him.

Question 2.
Who are the ‘down-trodden’? What can we do to lift them up ? (2009, 15)
Answer:
Down-trodden are those people who are treated so badly by rich and powerful people that they no longer have the energy to fight back. We can lift them up by giving them support, love, care and giving them their due.

Question 3.
Why is it necessary to forgive others before asking for forgiveness?
Answer:
It is necessary because God will forgive you only when you will forgive the fellow human beings who have done bad deeds against you.

Question 4.
What should we do before asking God for forgiveness for our own sins ?
Answer:
We should forgive people who have harmed us by their bad deeds. This will earn us the right to ask for forgiveness from God.

True Worship Hindi Translation

मन्दिर में ईश्वर के चरणों में पुष्पांजली अर्पित करने मत जाओ,
पहले अपने घर को प्यार की सुगन्ध से भर लो।
मन्दिर में ईश्वर की वेदी के सन्मुख दीप जलाने मत जाओ,
पहले अपने अन्दर के पापरूपी अन्धकार को दूर कर लो।
मन्दिर में प्रार्थना में अपना सीस नवाने मत जाओ,
पहले अपने साथी मनुष्यों के सन्मुख विनम्रता से झुकमा सीखो।
मन्दिरों में घुटने मोड़कर प्रार्थना करने मत जाओ,
पहले किसी पददलित इन्सान को झुककर उठाना सीखो।
मन्दिर में अपने पापों के लिए क्षमा-याचना करने मत जाओ,
पहले हृदय से उसको क्षमा करो जिसने तुम्हारे साथ दुराचार किया हो।  -रविन्द्रनाथ टैगोर

True Worship Summary in Hindi

यह कविता हमें उपासना का सही मार्ग दिखाती है। वास्तविक प्रार्थना उपासक द्वारा कर्मकाण्ड का अन्धानुकरण मात्र नहीं है, वह तो ईश्वर द्वारा वांछित कर्म के निष्पादन में निहित है। ईश्वर के चरणों में पुष्प अर्पित करना मात्र कर्मकाण्ड है-यह ईश्वर को तभी स्वीकार्य होता है जब उपासक अपने हृदय को मानव प्रेम की मधुर सुगन्ध से परिपूरित कर लेता है। जब तक उपासक अपने हृदय से पाप रूपी अन्धकार को निकाल नहीं देता तब तक ईश्वर के सम्मुख दीप प्रज्जवलित करना उसे स्वीकार्य नहीं होता। जो व्यक्ति दूसरे इन्सानों को अपने से तुच्छ समझता हो उसके लिए ईश्वर के हृदय में कोई स्थान नहीं होता। ईश्वर के सामने सीस झुकाने से पूर्व मनुष्य का अहंकार से छुटकारा पाना आवश्यक है। जो इन्सान धनी एवं प्रभावशाली व्यक्तियों द्वारा उत्पीड़ित हैं उन्हें आपके सम्बल, आपके प्यार तथा आपके संरक्षण की आवश्यकता है। पहले उनके प्रति अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करो फिर ईश्वर के सामने नतमस्तक होकर उसकी उपासना का मधुर स्वाद प्राप्त करने का प्रयत्न करो। पहले उन इन्सानों को क्षमादान दो जिन्होंने तुम्हारे साथ दुष्कर्म किये हों, तुम्हें सताया हो, फिर ईश्वर से अपने पापों के लिए क्षमादान की प्रार्थना करो तो ईश्वर तुम्हें क्षमा करेगा।

Leave a Comment

AllEscort