मूवी थिएटर के बारे में 13 विशेष तथ्य कुछ लोग ही जानते है

अक्सर हम लोग जिन फिल्मो के लिए  excited रहते उसे देखने हम थिएटर में जाते हैं ,जहाँ पर बड़ी स्क्रीन होती है साउंड्स होते है आवाज अच्छी अति है और अच्छी क्वालिटी में फिल्म हमें दिखती है जिससे फिल्म देखने का मजा ही कुछ और होता है आज हम कुछ ऐसे चीजे आपको बताएँगे जिससे फिल्म देखने का मजा दुगुना हो जायेगा

1. फिल्म थिएटरों में लाल कुर्सियों का रहस्य

पहले के समय में इटालियन ओपेरा बहुत लोकप्रिय थी  इसकी वजह से सिनेमाघरों में लाल कुर्सियाँ दिखाई दीं।

इतालियन थिएटरों की सजावट में लाल और सोने जैसे रंग परम्परिक हैं। समय के साथ, दूसरे देशों ने उन्हें अपनाया और इस रंग के मूवी थिएटर दिखाई दिए,

 क्यूंकि लाल रंग पहला ऐसा रंग है जो लाइट के कम होने पर दिखाई नहीं देता थिएटर में जहाँ थोड़ी रोशनी होती है, वहाँ नीले रंग से लाल रंग चमकीला दिखाई देता है , हालांकि पर्याप्त रोशनी होने पर भी यह चारों ओर का रास्ता रहता है।

2. इयरप्लग  फिल्म देखने में अधिक आरामदायक होते हैं।

थिएटर में अक्सर ज्यादातर लोग पॉपकॉर्न कहते हुए और फ़ोन पर बात करते हुए फिल्म देखते है जो हमें बहुत बेकार लगता है ज्यादातर तब जब हम गिर्ल्फ्रेंड् के साथ मूवी देखने गए हो।  और इस प्रॉब्लम का सलूशन है है एअर प्लग्स जिससे से  फुसफुसाहट वाली आवाजे नहीं अति है और आप फिल्म बड़े ही मजे से देख सकते है

3. गुरुवार सिनेमाघरों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन होता है।

ज्यादातर मूवी Thursday को Release होती है।  क्यूंकि यह दिन मूवी की कामयी को बढ़ने वाला होता ही मूवी Thursday को लगती है तो मूवी रिव्यु करने वाले उसी दिन जाते है और अच्छे रिव्यु अगर लोगो मिलते है तो Sunday तक ज्यादा लोग मूवी देखने जाते है और मूवी की कलेक्शन अच्छी हो जाती है।

4. मूवी थिएटरों में पॉपकॉर्न बेहद महंगा होता है।

थिएटर से सिर्फ 30% से 40% कमाई होती है इसीलिए ये लोग वहां पर खाने पिने की चीजे बेचते है जो की बहार से 10 गुना ज्यादा होता है और तो अगर काम खर्च में मूवी देखना चाहते है तो आप पॉपकॉर्न बहार से ले जा सकते है।

5. पॉपकॉर्न हमेशा ताजा नहीं होता है

पॉपकॉर्न का एक मुख्य लाभ यह है कि यह कई दिनों के बाद भी खराब नहीं होता है। अनसोल्ड पॉपकॉर्न को बैग में रखा जाता है और फिरसे दूसरे दिन उसे गरम  बेचना सुरु कर दिया जाता है 

Leave a Comment